पश्चिमांचल

डेंटल करिकुलम में जल्द शुरू होगा ब्रिज कोर्सः डा. विवेक

तीर्थंकर महावीर डेंटल कालेज एंड रिसर्च सेंटर में इंटरडिपार्टमेंटल केस डिस्कशन

मुरादाबाद (the live ink desk). डेंटल काउंसिल आफ इंडिया के इलेक्टिड एग्जिक्यूटिव डा. विवेक सिंह ने होठों और तालु के कटने के विभिन्न कारणों और उपचार के विभिन्न तौर-तरीकों पर प्रकाश डालते हुए इलाज के विभिन्न प्रकार बताए। उन्होंने स्वीकार किया, इसके इलाज में एक अकेला विभाग काफी नहीं है, जबकि इसके ट्रीटमेंट में कई विभागों को एक साथ कार्य करना होता है। इसके इलाज में ओरल सर्जरी, पीडोडोन्टिक्स और आर्थोडोन्टिक्स विभागों  की अहम भूमिका होती है।

डा. विवेक तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी के डेंटल कालेज एंड रिसर्च सेंटर की ओर से पेशेंट के कटे होठ और तालु का इलाज पर इंटरडिर्पाटमेंटल केस डिस्कशन में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। इससे पूर्व डेंटल कालेज के प्रिंसिपल प्रो. मनीष गोयल ने मुख्य अतिथि का स्वागत कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

यह भी पढ़ेंः राज्य स्तरीय क्रिकेट टूर्नामेंटः प्रयागराज ने गाजीपुर और जौनपुर ने गोरखपुर को हराया

यह भी पढ़ेंः संदिग्ध दशा में लगी आग में खाक हो गई गृहस्थी

यह भी पढ़ेंः मौनी अमावस्याः तीन दशक बाद बन रहा दुर्लभ संयोग, कुंभ राशि में विराजमान हैं शनिदेव

डा. सिंह ने डेंटल में जल्द प्रारंभ होने वाले एक ब्रिज कोर्स का भी इंट्रो दिया। उल्लेखनीय है, डेंटल काउंसिल आफ इंडिया इस कोर्स को डेंटल के करिकुलम में शामिल करने की तैयारी में है। इस ब्रिज कोर्स के बाद डेंटिस्ट भी एक जनरल फिजिशियन के तौर पर अपनी सेवाएं दे सकता है। इंटरडिर्पामेंटल केस डिस्कशन के दौरान सवाल-जवाब का दौर भी चला, जिसमें स्टुडेंट्स ने अपनी शंकाओं को लेकर मुख्य अतिथि से सवाल किए। मुख्य अतिथि ने स्टुडेंट्स की शंकाओं का समाधान किया। डिस्कशन में आर्थोडोन्टिक्स, पीडोडोन्टिक्स और ओरल सर्जरी के 70 से अधिक स्टुडेंट्स ने प्रतिभाग किया।

डेंटल कालेज के प्रिंसिपल प्रो. मनीष गोयल ने कटे होंठ और तालु के इलाज के लिए लोगों को जागरूक करने और समय से इलाज कराने को उन्हें प्रेरित करने की वकालत की। उन्होंने वर्तमान में डेंटिस्ट की ओर से होंठ और तालु के ट्रीटमेंट में इलाज की विभिन्न तकनीकों पर भी जोर दिया। प्रो. गोयल ने कहा, टीएमयू में इस समस्या के इलाज से जुडे़ सभी उपकरण और सुविधाएं मौजूद हैं। कार्यक्रम में आर्थोडोन्टिक्स के प्रो. मुकेश कुमार, पीडोडोन्टिक्स के एचओडी डा. रामाकृष्ण येलूरी, ओरल सर्जरी की एचओडी डा. नीलिमा गहलोत के संग-संग पीजी स्टुडेंट्स मौजूद रहे। संचालन पीजी फाइनल ईयर की डा. तनीषा सिंह और डा. शिवांगी कुमारी ने किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button