देश-दुनिया समाचार

सद्भावना दिवस के रूप में मनाई गई राजीव गांधी की जयंती, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी किया ट्वीट

नई दिल्ली (the live ink desk). देश के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 78वीं जयंती सद्भावना दिवस के रूप में मनाई गई। राजीव गांधी के बेटे राहुल गांधी, बेटी प्रियंका वाड्रा, दामाद रॉबर्ट वाड्रा सहित कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं ने श्रद्धांजलि दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट  कर पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी श्रद्धांजलि अर्पित की है। प्रियंका गांधी ने अपने ट्वीटर एकाउंट से एक वीडियो भी शेयर किया है, जिसमें उनके पिता राजीव गांधी से जुड़ी स्मृतियां शामिल हैं।

नई दिल्ली में स्थित राजीव गांधी की समाधि स्थल वीर भूमि पर उन्हें श्रद्धांजलि देने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं में मलिकार्जुन खड़गे, पवन बंसल, सांसद केसी वेणुगोपाल एवं कई अन्य नेता मौजूद थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा- हमारे पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि।

यह भी पढ़ेंः श्रीकृष्ण जन्मोत्सवः बांके बिहारी मंदिर में दम घुटने से दो श्रद्धालुओं की मौत

मालूम हो कि देश की पूर्व प्रधानमंत्री एवं राजीव गांधी की मां इंदिरा गांधी की मृत्यु के बाद 1984 में प्रधानमंत्री के तौर पर देश की बागडोर संभालने वाले राजीव गांधी का जन्म 20 अगस्त 1944 में हुआ था। पांच साल तक प्रधानमंत्री रहने वाले राजीव गांधी की मई 1991 में तमिलनाडु के श्रीपेरंबदूर में उग्रवादी संगठन एलटीटीई के द्वारा किए गए एक आत्मघाती हमले में राजीव गांधी की हत्या कर दी गई थी।

आधुनिक भारत के निर्माता के रूप में है पहचानः भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की जयंती प्रत्येक वर्ष सद्भावना दिवस के रूप में मनाई जाती है। 21वीं सदी के आधुनिक भारत का निर्माता कहे जाने वाले राजीव गांधी ने अपने कार्यकाल (1984 से 1989 तक) में कई बड़े फैसले किए थे, जिसमें अगस्त 1984 में भारतीय दूरसंचार नेटवर्क की स्थापना, 1986 में एमटीएनएल की स्थापना, हायर एजुकेशन के आधुनिकीकरण और विस्तार के लिए 1986 में शिक्षा पर राष्ट्रीय नीति (एनईपी) की घोषणा शामिल है।

यह भी पढ़ेंः युवती की गला रेतकर हत्या, दस माह पूर्व कुएं में मिली थी देवर की लाश

18 वर्ष के युवाओं को दिया मतदान का अधिकारः महज 40 वर्ष की अवस्था में भारत के प्रधानमंत्री बनने वाले राजीव गांधी ने मतदान के अधिकार की उम्र को 21 वर्ष से घटाकर 18 वर्ष किया था। इसके अलावा पंचायती राज प्रणाली को मजबूती प्रदान की। जवाहर नवोदय विद्यालय की स्थापना का श्रेय भी राजीव गांधी को जाता है। राजीव गांधी की मृत्यु के उपरांत उन्हे देश का सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार भारत रत्न प्रदान किया गया था।

यह भी देखेंः 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button